top of page

वजन कम करने का आयुर्वेदिक तरीका


At Upasya Ayurveda in Ranchi, Dr. Vartika Kumari offers personalized weight loss plans that address the root cause of weight gain and promote long-term weight management

परिचय: आयुर्वेद में, समग्र दृष्टिकोण के माध्यम से वजन कम किया जाता है जिसमें तीन दोषों (वात, पित्त और कफ) का संतुलन और स्वस्थ पाचन को बढ़ावा देना शामिल है। वजन घटाने के लिए आयुर्वेदिक उपचार का उद्देश्य विषाक्त पदार्थों को निकालना, पाचन अग्नि को बहाल करना और चयापचय में सुधार करना है। वजन घटाने के लिए आयुर्वेदिक दृष्टिकोण: आयुर्वेद के अनुसार कफ दोष में असंतुलन होने पर वजन बढ़ता है। निम्नलिखित आयुर्वेदिक अभ्यास वजन घटाने में मदद कर सकते हैं: आहार: आयुर्वेदिक आहार गर्म, पके हुए खाद्य पदार्थों और मसालों के सेवन पर जोर देता है जो पाचन को प्रोत्साहित करने में मदद करते हैं। वजन घटाने के लिए हरी पत्तेदार सब्जियां, अदरक, लहसुन और हल्दी जैसे खाद्य पदार्थ बेहतरीन हैं। जीवन शैली में परिवर्तन आयुर्वेद स्वस्थ शरीर और मन के लिए नियमित व्यायाम, योग और ध्यान के महत्व पर जोर देता है। इसके अलावा, पर्याप्त नींद लेना और तनाव से बचना आवश्यक है, क्योंकि ये कारक वजन बढ़ाने में योगदान कर सकते हैं। हर्बल सप्लीमेंट्स: त्रिफला, गुग्गुलु और गार्सिनिया कंबोगिया जैसी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों को पाचन में सुधार, सूजन को कम करने और चयापचय को बढ़ावा देकर वजन घटाने में सहायता करने के लिए दिखाया गया है। वजन घटाने के लिए उपास्य आयुर्वेद का दृष्टिकोण: रांची में उपास्य आयुर्वेद में, डॉ. वर्तिका कुमारी वजन घटाने के लिए व्यक्तिगत आयुर्वेदिक उपचारों में माहिर हैं। वह प्रत्येक रोगी की व्यक्तिगत जरूरतों का आकलन करती है और एक अनुकूलित योजना निर्धारित करती है जिसमें आहार, जीवन शैली में परिवर्तन और हर्बल सप्लीमेंट शामिल हैं। निम्नलिखित कुछ बीमारियाँ हैं जिन्हें डॉ. वर्तिका कुमारी वजन घटाने के लिए अपने आयुर्वेदिक दृष्टिकोण के माध्यम से संबोधित करती हैं: मधुमेह: वजन घटाने के लिए आयुर्वेदिक उपचार रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने और मधुमेह संबंधी जटिलताओं के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं। उच्च रक्तचाप: मोटापा उच्च रक्तचाप के लिए एक जोखिम कारक है। वजन घटाने के आयुर्वेदिक उपचार निम्न रक्तचाप और हृदय रोग के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं। जोड़ों का दर्द: अधिक वजन के कारण जोड़ों में दर्द और सूजन हो सकती है। वजन घटाने के आयुर्वेदिक उपचार दर्द को कम करने और गतिशीलता में सुधार करने में मदद कर सकते हैं। पीसीओएस: पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस) एक हार्मोनल विकार है जो महिलाओं को प्रभावित करता है। वजन घटाने के लिए आयुर्वेदिक उपचार हार्मोन को नियंत्रित करने

और प्रजनन क्षमता में सुधार करने में मदद कर सकते हैं।



स्वस्थ शरीर और मन प्राप्त करने के लिए वजन घटाने के लिए आयुर्वेदिक दृष्टिकोण एक सुरक्षित और प्रभावी तरीका है। व्यक्तिगत उपचार, हर्बल सप्लीमेंट और जीवनशैली में बदलाव की मदद से मरीज अपना वजन कम कर सकते हैं और अपने संपूर्ण स्वास्थ्य में सुधार कर सकते हैं। डॉ. वर्तिका कुमारी के नेतृत्व में रांची में उपस्या आयुर्वेद, वजन घटाने के लिए अनुकूलित आयुर्वेदिक उपचार प्रदान करता है जो मोटापे से संबंधित विभिन्न बीमारियों को दूर करता है।



3 दृश्य0 टिप्पणी

コメント


bottom of page